Instructions:


शनि साढ़े साती विश्लेषण :-
ज्योतिष में शनि को न्याय के देवता की संज्ञा दी गई है | जातक के कर्मों के अनुसार शनि फल प्रदान करते हैं | यदि जातक की कुंडली में शनि कमजोर व शापित होकर स्थित है तो सामान्य जीवन में अत्यंत ही दुष्प्रभाव प्रदान करते हैं व अपनी महादशा काल में तो जातक को हर क्षेत्र में तोड़ ही देते हैं | शनि सदैव अपना प्रभाव बुरा ही दें, ऐसा भी नहीं है | कुंडली में प्रबल स्थिति में होने पर जातक को राजा भी शनि ही बनाते हैं |

शनि की साढ़े साती का काल सात वर्ष छह माह का होता है | इस समय जातक शनि से सबसे अधिक प्रभावित रहता है | इस काल में यह अत्यंत ही आवश्यक हो जाता है कि जातक स्वमं को सदृढ़ कर ले व प्रत्येक क्षेत्र में सही निर्णय ले जिससे कि आने वाली विषम परिस्थितियों में अधिक कष्ट व हानि न उठानी पड़े साथ ही प्राप्त सुअवसरों का सदुपयोग कर लाभ उठा सके |

ज्योतिषशास्त्र, शनि साढ़े साती विश्लेषण रिपोर्ट सेवा के अंतर्गत, जातक की कुंडली का गहन विश्लेषण कर सम्बंधित जातक पर इसके द्वारा पड़ने वाले प्रभावों का फलादेश प्रदान करता है | शनि की साढ़े साती काल में जातक को कौन से उपाय करने हैं, का भी परामर्श प्रदान करता है जिससे कि सम्बंधित जातक को इस काल में अधिक पीड़ित न होना पड़े व कम से कम हानि उठानी पड़े |

जातक हॉरोस्कोप फॉर्म के माध्यम से ज्योतिषशास्त्र को यह भी सूचित कर सकता है कि उसे सबसे अधिक, जीवन के किस क्षेत्र में समस्या आ रही है एवं ज्योतिषशास्त्र से जातक सम्बंधित विषय में और अधिक क्या अपेक्षा रखता है का संज्ञान करा सकता है, जिसका उचित समाधान सहित परामर्श प्रदान किया जायेगा |



Shani Sade Sati Analysis :-
Saturn has been called the God of justice in astrology. Saturn gives fruits according to the deeds of the Jatak. If the Saturn is weak and cursed in the horoscope of the Jatak, then it provides very bad effects in normal life and in the mahadasha period it breaks the person in every field. Saturn always gives bad effect, it is not so. On being in a strong position in once horoscope, this is Saturn who makes a person King.

Saturn's Sade Sati period is of seven years and six months. In this period the person is most affected by Saturn. In this era, it becomes very necessary that the person should strengthen themselves and make the right decisions in every field, so that in the untimely circumstances, there will not be much trouble and loss as well as get the benefits by best utilization of the available opportunities.

JyotishShastra analysed jataka’s horoscope deeply and thereafter provides Saturn Sade Sati Report which usually arrives three times in the entire life period of a jataka with exact time of maha dashakaal and its effects on the concerned person.Report consists suggestions and remedies which should have to perform in the context of the mahadasha to make this period less troublesome.

If a jataka is under Shani Sade Sati madashakaal and suffering from troubles then while sending information he/she can also inform JyotishShastra from the problem(s) which hassling more. JyotishShastra will focus more on that problem(s) for its perfect solution.


Use Discount Coupon Code
SHANI24
& Get 24.00% Direct Discount on Service Price

Shani Sade Sati Analysis
Service Price Rs. 750
Apply Discount Coupon Code
Apply

Please Enter Your Birth Details:

(*all fields are essentials)

Upload Images:

Add More
Delete

Note: 1. For Vastu Shastra consultation send blueprint / map of your house, shop, office, hotel, shopping complex with clearly & completely mentioned informations.
2. For better & accurate horoscope predictions & solutions it is advised to upload both right & left palm high pixels images with horoscope form.