Instructions:


महादशा में अन्तर्दशा के उपाय :-
जातक की जन्म कुंडली में जन्म से लेकर मृत्यु तक नवग्रहों में से किसी न किसी ग्रह की महादशा प्रभावी रहती है जो समस्त नवग्रहों की अन्तर्दशा में बारी बारी से कई माह से लेकर वर्षों तक रहती है |

जातक की जन्म कुंडली में जब किसी ग्रह की महादशा बदलती आती है तब महादशा वाले ग्रह का जातक पर अधिक प्रभाव बढ़ जाता है साथ ही महादशा वाले ग्रह की जिस ग्रह के साथ अन्तर्दशा होती है वह उस ग्रह के साथ मिलकर भी फल प्रदान करता है | जैसे जैसे ग्रह की अन्तर्दशा में बदलाव आता है वैसे वैसे ही जातक के जीवन पर प्रभाव भी अलग अलग डालता है | जब महादशा वाले ग्रह की अन्तर्दशा अच्छे, बलवान व मित्र ग्रह के साथ आती है तब शुभ प्रभाव मिलता है एवं खराब व शत्रु ग्रह के साथ अन्तर्दशा की स्थिति में बुरा प्रभाव मिलता है |

ज्योतिषशास्त्र की महादशा में अन्तर्दशा के वार्षिक उपाय सेवा के अंतर्गत जातक को उसकी कुंडली स्थित प्रभावी महादशा की तत्कालीन अन्तर्दशा के उपाय प्रदान किये जाते है | इस प्रकार इन उपायों को नियम-संयम व विधि-विधान पूर्वक करने पर जातक को महादशा काल की तत्कालीन अन्तर्दशा में यदि शुभ फल मिलने है तो वे प्रभाव बढाकर और अधिक शुभ फल प्राप्त करने में सहयोग करते है एवं यदि अशुभ फल प्राप्त होने के योग है तो अशुभता का प्रभाव घटाकर उनमें अल्पता / ह्रास लाने में सहयोग करते है |

यह भी अटल सत्य है की कुंडली अनुसार जातक को फल तो अवश्य ही प्राप्त होता है | बस ज्योतिष के माध्यम से हम उनका प्रभाव बढ़ा व कम कर सकते है |




Antardasha Remedies
Service Price Rs. 399
Apply Discount Coupon Code
Apply

Please Enter Your Birth Details:

(*all fields are essentials)

Upload Images:

Add More
Delete

Note: 1. For Vastu Shastra consultation send blueprint / map of your house, shop, office, hotel, shopping complex with clearly & completely mentioned informations.
2. For better & accurate horoscope predictions & solutions it is advised to upload both right & left palm high pixels images with horoscope form.